मैं कौन


मैं कौन हूँ , मैं नही जानता । मेरा काम क्या है , मैं आज तक नही जान पाया । मैं क्या कर रहा हूँ , मैं जानना नही चाहता । बस मुझे पता है तो इतना की मैं समाचार जगत का एक छोटा सा कीडा हूँ. जो हमेशा आप तक खबरे पहुंचाता आया है । आगे भी मेरा प्रयास रहेगा की मैं आप को समाचार जगत की नवीनतम जानकारिया मेरे इस ब्लॉग के माध्यम से देता रहूँ.  लेकिन हमेशा मेरे मन को एक बात कटोचती रहती है की क्या एक पत्रकार द्वारा दी गई जानकारी से कुछ फायेदा हुआ है । तो जवाब मिलता है की नही । तो मैंने आज तक क्या किया । कुछ भी तो नही ना । तो क्या मुझे समाचार जगत का कीडा बने रहना चाहिए । एक समय था जब आप समाचार को पढ़ते व् समझते थे , लेकिन आज समाचार सिर्फ़ और सिर्फ़ सुर्खिया बन कर रह गए है । मैं मन मसोस कर रह जाता हूँ लेकिन मैं कुछ कर नही कर सकता क्योकि मेरा काम यही है इसलिए मैं आज तक नही समझ पाया की मैं .....

Related Articles :


Stumble
Delicious
Technorati
Twitter
Facebook

11 आपकी गुफ्तगू:

Jyotsna Pandey said...

आपका हिंदी ब्लॉग जगत में स्वागत है .आपका लेखन सदैव गतिमान रहे ...........मेरी हार्दिक शुभकामनाएं......

संगीता पुरी said...

बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

नारदमुनि said...

we are sailing in the same boat.--govind goyal from sriganganagar. narayan narayan

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

शुभकामनाऎं......खूब लिखें,अच्छा लिखें......

दिगम्बर नासवा said...

गोयल जी
गीता में कहा है कर्म करो फल की चिंता न करें
आप अपना काम करते जाएँ इमानदारी से

रचना गौड़ ’भारती’ said...

ब्लोगिंग जगत मे स्वागत है ।
शुभकामनाएं
भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
www.zindagilive08.blogspot.com
आर्ट के लि‌ए देखें
www.chitrasansar.blogspot.com

कमलेश वर्मा said...

गोयल जी .हमने भी आपके ब्लॉग को खूब घूर-घूर कर देखा ,आपकी मेहनत साफ झलकती है ..और तरक्की करो ..शुभकामना ...

कमलेश वर्मा said...

aawaj koyal ki .guftgu goyal ki ...kya kahne..sunder rchnayen..

नीरज कुमार said...

बहुत बढ़िया प्रयास है साथी.
कुछ ख़बरें तो बहुतायत से शामिल हैं लेकिन कुछ का अभाव है

संजय भास्कर said...

.हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

mamta vyas said...

सूर्य जी आपकी भावनाओं की कद्र की जानी चाहिए , आज पत्रकारिता जिस दौर से गुजर रही है और मिडिया का रूप धर कर राजनीति के साथ गठबंधन कर चुकी है ऐसे समय में आप जैसे पत्रकारों की देश को जरुरत है जिनके दिल में आम जनता के लिए दर्द हो , आप निश्चिन्त रहिये आप जो कर रहे है वो अपने आप में बड़ी बात है आप के लिए इक शेर" हम भी बहते दरिया है हमें अपना हुनर मालूम है जिस तरफ भी चल पड़ेगे रास्ता हो जायेगा " मेरी शुभकामनये है की आप हमेशा यूँ ही अपने पथ पर चलते रहें

Post a Comment

अंग्रेजी से हिन्दी में लिखिए

तड़का मार के

* महिलायें गायब
तीन दिन तक लगातार हुई रैलियों को तीन-तीन महिला नेत्रियों ने संबोधित किया. वोट की खातिर जहाँ आम जनता से जुड़ा कोई मुद्दा नहीं छोड़ा वहीँ कमी रही तो महिलाओं से जुड़े मुद्दों की.

* शायद जनता बेवकूफ है
यह विडम्बना ही है की कोई किसी को भ्रष्ट बता रह है तो कोई दूसरे को भ्रष्टाचार का जनक. कोई अपने को पाक-साफ़ बता रहे है तो कोई कांग्रेस शासन को कुशासन ...

* जिंदगी के कुछ अच्छे पल
चुनाव की आड़ में जनता शुकून से सांस ले पा रही है. वो जनता जो बीते कुछ समय में नगर हुई चोरी, हत्याएं, हत्या प्रयास, गोलीबारी और तोड़फोड़ से सहमी हुई थी.

* अन्ना की क्लास में झूठों का जमावाडा
आज कल हर तरफ एक ही शोर सुनाई दे रहा है, हर कोई यही कह रहा है की मैं अन्ना के साथ हूँ या फिर मैं ही अन्ना हूँ. गलत, झूठ बोल रहे है सभी.

* अगड़म-तिगड़म... देख तमाशा...
भारत देश तमाशबीनों का देश है. जनता अन्ना के साथ इसलिए जुड़ी, क्योंकि उसे भ्रष्टाचार के खिलाफ यह आन्दोलन एक बहुत बड़ा तमाशा नजर आया.
a
 

gooftgu : latest news headlines, hindi news, india news, news in hindi Copyright © 2010 LKart Theme is Designed by Lasantha